समर्थन विरोधी दुहराव

रटने की शिक्षा विधि क्या है?

रट कर अध्ययन करना या पढ़ना यानी किसी विषय को उसकी परिकल्पना और उसका अर्थ समझे बिना बारबार दोहरा कर याद करना.

इस पर विचार करें.

हम हमेशा इतिहास के पाठ रटकर याद तो कर लेते हैं, लेकिन इसके बावजूद हम उन घटनाओं का आज की राजनीति और अर्थ-व्यवस्था पर क्या प्रभाव पड़ता यह समझ नहीं पाते. हम भौतिकशास्त्र के नियम याद तो कर लेते हैं, लेकिन यह समझ नहीं पाते कि उनका हमारे दैनिक जीवन पर क्या असर होता है.

सीखने के बजाए हम रटने पर ज़्यादा ध्यान देते हैं. हमारे स्कूलों और दूसरे शैक्षणिक संस्थानों के गलियारों और कैम्पस में हम अक़्सर ‘रट्टा मार’ वाक्यांश सुनते हैं. इस रट्टा मार प्रक्रिया से विद्यार्थी बाहरी दुनिया का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार नहीं होते और न ही सिद्धांतों व परिकल्पनाओं को अपने जीवन में लागू कर पाते हैं. इसके अलावा तर्कसंगत विचार-विमर्श का कौशल भी उनमें विकसित नहीं हो पाता.

इतना ही नहीं, रटकर अध्ययन करने की प्रक्रिया पढ़ाई को उबाऊ, ग़ैर-दिलचस्प, नीरस और पूरी तरह से अप्रिय भी बना देती है.

अब समय आ गया है कि हम यह बदल दें.

पीसी यानी कम्प्यूटर पर अध्ययन करने की प्रक्रिया रटने की प्रक्रिया का एक बहुत ही प्रभावी विकल्प है. यह वैचारिक व कल्पना के आधार पर समझाने पर ज़ोर देती है. इससे सभी तथ्य आसानी से समझ में आ जाते हैं और उन्हें कक्षा की दीवारों के पार की दुनिया में इस्तेमाल करना आसान हो जाता है. सबसे ख़ास बात यह है कि इसके साथ पढ़ाई बहुत ही मज़ेदार हो जाती है

घर और कक्षा में पीसी की मौजूदगी सीखने व अध्ययन की प्रक्रिया को आसान बनाती है और हर कोई इससे आसानी से जुड़ सकता है. यह प्रक्रिया यह भी सुनिश्चित करती है कि सबसे ज़्यादा महत्व ज्ञान को दिया जाता है, न कि परीक्षा में मिलने वाले अंकों को.

आज ही यह बदलाव लाएँ. साइन-अप करें और रट्टा-विरोधी अध्ययन को अपना समर्थन दें.

एक साथ मिलकर, आइए – अध्ययन की एक नई लहर, एक नई परम्परा का ‘आरंभ’ करते हैं.

पीसी के साथ अध्ययन

मैं रट्टा विरोधी अध्ययन का समर्थन करता/करती हूं

वैध नाम दर्ज करें

वैध ई-मेल आईडी दर्ज करें

राज्य चुनिए

शहर चुनिए